Wednesday, June 8, 2011

कविता पर रोक

कविता लिखना चाहता हूँ
शर्त रख दी जाती हैः

मुसलमान हो तो;
कुरआन-हदीस पर मत लिखना.

ईसाई हो तो; ईसा के पिता का सवाल
नहीं उठाओगे.

हिंदू हो तो; अयोध्या छोड़कर सारी
‘रामायण’ लिख सकते हो.

मैं बोलना चाहता हूँ
तो प्रतिबंधित कर दिया जाता हूँ.

****शहरोज़

Thanks to BBC article for this poem.

No comments:

Popular Posts

Total Pageviews